Hantavirus kya hai | हंता वायरस कैसे फैलता है? और लक्षण क्या है?

hantavirus kya hai in hindi hanta virus ke lakshan what is hantavirus kaise hota hai hantavirus treatment हंता वायरस क्या है ? hanta virus kya hai

जरूरी सूचना:- दुनिया में कोरोना वायरस का ख़ौफ़ है और इसी बीच हंता वायरस भी चिंता बढ़ा रहा हैं। 23 मार्च को चीन में एक शख्स की हंता वायरस की वजह से मौत हुई है. ग्लोबल टाइम्स की ख़बर के अनुसार, हंता वायरस से मरने वाला जिस बस में सवार था, उस बस में जाने वाले 32 लोगों की भी जांच की जा रही है. हंता वायरस से मौत के बारे मे पता चले ही ट्विटर पर #HantaVirus टॉप ट्रेंड होने लगा। लोग इसके लिए अपनी प्रतिक्रियाएं और डर सोशल मीडिया पर साझा कर रहे हैं।

Hantavirus kya hai | हंता वायरस क्या है ?

हंता वायरस क्या है ?

दोस्तों… हंता वायरस सिर्फ एक विषाणु नहीं, बल्कि विषाणुओं का समूह है। जो की चूहों की प्रजातियों को संक्रमित करता हैं। लेकिन इससे चूहों को रोग नहीं लगता न कोई नुकसान होता है। जानकारो का मानना है कि Hanta Virus चूहों की प्रजाति मे लाखों सालों से विकसित हो रहा हैं। यह किसी इवॉल्यूशन की तरह है। जिसमे दोनों एक-दूसरे को बिना हानि पहुंचाए रह सकते हैं। हंता वायरस कई स्थानो पर पहले से मौजूद है जैसे कि एशिया, अफ्रीका, अमेरिका और हाल मी चीन तक शामिल हैं।

हंता वायरस कैसे फैलता है?

  1. hantavirus संक्रमित चूहों के मल मूत्र या लार के संपर्क में आने से इन्सानो में भी पहुंच सकता हैं।
  2. इस वायरस का संक्रमण एक इंसान से दूसरे इंसान में होना मुश्किल है। ऐसा न के बराबर पाया गया है।
  3. यह संक्रमण तभी होगा जब कोई आप किसी संक्रमित चूहे के मल-मूत्र या लार से वायरस को छूकर सांस द्वारा या किसी तरह अपने फेफड़ों में प्रविष्ट करवा लेते है।
  4. चूहों के काटने, वायरस से संक्रमित भोजन खाने से से भी आप हंता वायरस से संक्रमित हो सकते है।
  5. चूहों के मल-मूत्र या लार को छूने के बाद अपने चेहरे पर हाथ लगाने से संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है।

यह भी पढ़ें:- क्या है कोरोना वायरस इसके लक्षण और उपाय

हंता वायरस के लक्षण क्या है?

  1. बुखार, खांसी, बदन दर्द, सर्दी, उल्टी और सांस फूलना आदि लक्षण होते है।
  2. इसके कारण मरीज़ों में गुर्दों का फेल होना और ब्लड प्रेशर का गिरना लक्षण भी हो सकते हैं।
  3. hanta virus की वजह से होने वाले हेमरेजिक बुखारों की मृत्यु दर 30 प्रतिशत से भी ऊपर पायी गई है।
  4. हंता वायरस में मृत्युदर 38 फ़ीसदी तक हो सकती है। और इसका कोई ‘सुनिश्चित इलाज’ नहीं है

हंता वायरस की अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें।

दोस्तो आपको यह जानकरी  ( hantavirus kya hai ) कैसी लगी हमे जरूर बताएं। अगर आप कुछ पूछना चाहते है तो नीचे कमेन्ट बॉक्स मे लिख सकते है।

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Alert: Content is protected !!